MyFab11-2019

रोहित और कोहली के बीच देखने को मिलेगी विराट जंग, जानिए किसका पड़ला होगा भारी.

कल आईपीएल के 31 वे मैच में मुम्बई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की भिड़ंत देखने को मिलेगी. रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुम्बई इंडियंस और विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच होने वाला मुकाबला देखना बेहद ही रोचक होगा.

कल जब दोनों टीमें एक दूसरे के आमने सामने होंगी तो मुम्बई इंडियंस की नजरे अपनी पांचवी जीत पर होगी, वही बैगलोर अपनी दूसरी जीत की तलाश में मैदान पर उतरेगी.

यह मैच दिलचस्प तो होगा कि क्योंकि इसमें कई बड़े खिलाड़ी एक साथ मैदान पर दिखेंगे. एक तरफ विराट कोहली, डिविलियर्स, और चहल पर फिर से सबकी निगाहें रहेगी.

वही दूसरी तरफ मुम्बई इंडियंस की टीम में रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड, और हार्दिक पांड्या के ऊपर सबकी निगाहें टिकी रहेगी.

किसका पलड़ा भारी रहा है अभी तक.

यही 2008 से लेकर के अभी तक के आईपीएल सफर में इन दोनों टीमों के कुल मुकाबलों की बात करें तो मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु अभी तक कुल 26 बार एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं.

इन 26 मुकाबलों में से 17 मुकाबलों में मुंबई इंडियंस को जीत मिली है, वही 9 मुकाबले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने जीते हैं. जब नजर वानखेडे स्टेडियम में हुए इन दोनों टीमों के बीच मुकाबला पर डालते हैं, तो पता चलता है कि इस मैदान पर दोनों टीमें अब तक कुल 8 बार एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं, जिनमें से 5 बार मुंबई इंडियंस को सफलता मिली हैं वहीं 3 बार और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने जीत दर्ज की है. यदि आंकड़ों पर गौर करें तो यहां से स्पष्ट होता है कि मुंबई इंडियंस का पक्ष रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ हमेशा ही मजबूत रहा है.

कैसी है रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की स्थिति

आईपीएल 2019 की शुरुआत कई टीमों के लिए अच्छी नहीं रही है, जिममें मुंबई इंडियंस, राजस्थान रॉयल्स, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु जैसे कई टीम में शामिल थी, लेकिन जैसे-जैसे मैच आगे होते गए और आईपीएल का वक्त गुजरता गया, वैसे वैसे सभी टीमें धीरे धीरे पटरी पर आने लगी और उन टीमों के प्रदर्शन में सुधार के साथ ही अंक तालिका में टीम की स्थिति अच्छी नजर आने लगी.

लेकिन इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर इतनी सौभाग्यशाली नहीं रही. टीम की शुरुआत चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हार से हुई थी, जिस मैच में रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु मात्र 70 रन पर ऑल आउट हो गई थी. उस हार के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु में लगातार एक के बाद एक हार का सामना किया और लगातार 6 मैच हारकर के अपने लिए मुसीबतें पैदा कर ली.

लेकिन सातवें मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने किंग्स इलेवन पंजाब को मोहाली के मैदान में हराया और दो महत्वपूर्ण अंक हासिल किए.

इन्हीं 2 अंकों के साथ ही अंक तालिका में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु अपना खाता खोला. लेकिन अभी आगे का सफर इस टीम के लिए बिल्कुल भी आसान नहीं होने वाला है. जैसा कि पहले मैच में जीत के बाद एबी डिविलियर्स ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि उन्हें अभी भी काफी उम्मीदें हैं.

लेकिन यदि इस टीम को अपनी उम्मीदों पर खरा उतरना है तो बेहद उच्च स्तर की क्रिकेट खेलनी होगी और अपने आगे आने वाले सभी मुकाबलों में जीत दर्ज करनी होगी.

लेकिन यह इतना आसान नहीं होने वाला है. इस टीम की समस्या गेंदबाजी है. इस टीम में कई ऐसे गेंदबाज है जिनको यदि सिर्फ चार चार ओवर करवाने हो तो 20 ओवर तो पूरे हो जाएंगे, लेकिन ऐसे गेंदबाज बहुत कम है, जो विकेट लेने की क्षमता रखते हो.

इस टीम में सिर्फ एक ही गेंदबाज युजवेंद्र चहल नजर आते हैं जो आईपीएल के अभी तक सभी मैचों में अपना छाप छोड़ने में कामयाब हुए हैं.

लेकिन यदि इस मुकाबले को आज रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु जीतना चाहती है तो उसको गेंदबाजी में कुछ हटकर के करना होगा जिससे कि मुंबई इंडियन की मजबूत बैटिंग क्रम को ध्वस्त किया जा सके.

इस टीम में किसी बदलाव की बात करें तो उसके होने की संभावना बेहद कम नजर आ रही है. स्पिन विभाग की जिम्मेदारी एक बार फिर यूज़वेंद्र चहल के कंधों पर होगी.

वहीं नवदीप सैनी और उमेश यादव मिलकर के तेज गेंदबाजी का जिम्मा संभालेंगे. वही टीम में मौजूद तीसरे तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज अभी तक इतना प्रभावशाली प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं. किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ भी खेले गए मैच में वह बहुत महंगे साबित हुए थे और अपने 4 ओवरों में 50 से भी ज्यादा रन देकर के सिर्फ एक विकेट हासिल किया था.

इसलिए इस मुकाबले में हमें मोहम्मद सिराज की जगह कोई अन्य खिलाड़ी देखने को मिल सकता है, जिसमें टिम साउथी भी एक विकल्प है.

वहीं टीम की बल्लेबाजी पर नजर डाले तो इसमें देखने को मिलता है कि रॉयल चैलेंज चैलेंजर्स बेंगलुरु की बल्लेबाजी सिर्फ दो बल्लेबाजों के इर्द-गिर्द घूमती है.वह है विराट कोहली और एबी डिविलियर्स. लेकिन यदि टीम को आगे तक का सफर तय करना है तो बाकी के बल्लेबाजों को भी जिम्मेदारी लेनी होगी और इन दोनों बड़े बल्लेबाजों के कंधे से कुछ बोझ कम करना होगा.

कैसी है मुंबई इंडियंस की स्थिति.

रोहित शर्मा की वापसी के बाद से मुंबई इंडियंस की टीम और भी ज्यादा मजबूत नजर आ रही है. मुंबई इंडियंस की खास बात यह है कि यह टीम किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रहती है. हम यदि बल्लेबाजी में देखे तो टीम के पास रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड, सूर्यकुमार यादव और आखरी में पावर हीटर हार्दिक पांड्या मौजूद होते हैं. यह सभी बल्लेबाज इस वक्त अपने बेहतरीन फॉर्म में नजर आ रहे हैं

वहीं टीम की गेंदबाजी की तरफ नजर डालें तो गेंदबाजी भी काफी मजबूत नजर आ रही है. आज मुंबई इंडियंस की टीम अपने आखिरी ओवरों के लिए सिर्फ जसप्रीत बुमराह पर निर्भर नहीं है. टीम के इस वक्त कई ऐसे गेंदबाज है जो मुश्किल परिस्थिति से टीम को उबार सकते हैं. हार्दिक पांड्या और कुणाल पांड्या भी कई मौके पर टीम को सफलता दिला देते हैं.

इसलिए यदि कोई मिला कर देखे तो मुम्बई इंडियंस की गेंदबाजी में बहुत दम नजर आता है. वही किरोन पोलार्ड हार्दिक पांड्या और कुणाल पांड्या जैसे ऑल राउंडर की मौजूदगी इस टीम को बेहद सशक्त बनाती है

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की संभावित प्लेइंग इलेवन

विराट कोहली (कप्तान), एबी डिविलियर्स, पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), शिमरोन हेटमेयर, शिवम दुबे, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद सिराज, मोइन अली, कॉलिन डी ग्रांडहोम और नवदीप सैनी.

मुम्बई इंडियंस की संभावित प्लेइंग 11

रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक (विकेट कीपर और ओपनर), सूर्यकुमार यादव, युवराज सिंह, कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, जेसन बेहरेनडॉर्फ, जसप्रीत बुमराह, राहुल चाहर, लसित मलिंगा.