MyFab11-2019

आज शाम रोहित और रहाणे के बीच जंग तो दूसरे मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब जलवा बिखेरेगीं.

जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में आज शाम का पहला मैच राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जाएगा. अजिंक्य रहाणे की कप्तानी वाली राजस्थान रॉयल्स इस वक्त अंक तालिका में सातवे स्थान पर बरकरार है.

वहीं 9 मैचों में छह जीत के साथ मुंबई इंडियंस के इस वक्त 12 अंक है, और वह अंक तालिका में दूसरे स्थान पर बनी हुई है. राजस्थान रॉयल्स के बारे में अब ऐसा कहा जा रहा है कि यह टीम एक तरह से इस टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है.

क्योंकि इस टीम के लिए आगे का सफर बिल्कुल भी आसान नहीं है. यदि यहां से यह टीम एक भी मैच हार जाती है तो इसके लिए अगले स्टेज में पहुंचने के सारे दरवाजे बंद हो जाएंगे. यदि सारे मैच जीत भी जाती है तो भी इस टीम को रन रेट जैसी बहुत ही पेचीदा चीजों पर निर्भर रहना पड़ेगा.

राजस्थान रॉयल्स की टीम का यदि आकलन करें तो इस टीम में जॉस बटलर, स्टीव स्मिथ, संजू सैमसन, अजिंक्य रहाणे जैसे खिलाड़ी मौजूद है, जो T-20 जैसे छोटे फॉर्मेट के बेहद ही उपयुक्त खिलाड़ी माने जाते हैं. लेकिन उसके बावजूद भी यह टीम आज स्थित इस स्थिति पर पहुंच चुकी है, जिसका कारण निश्चित तौर पर टीम के अंदर ही मौजूद है.

टीम के कई प्रमुख बल्लेबाज इस सीजन में अपना कोई भी जलवा नहीं बिखेर पाए. खासकर स्टीव स्मिथ की नाकामी टीम को बहुत ज्यादा खल रही है. स्टीव स्मिथ के बल्ले से अभी तक ऐसी कोई भी पारी नहीं निकली जिसके लिए वह जाने जाते हैं. वहीं यदि संजू सैमसन की बात की जाए तो कुछ मैचों को छोड़ करके उनका प्रदर्शन भी निराशाजनक रहा है.

टीम की सबसे बड़ी कमजोरी है कि इस टीम के अंदर वह सब कुछ मौजूद है जो एक विजेता टीम के अंदर होना चाहिए उसके बावजूद भी है टीम आखिरी मौके पर मैच में पकड़ नहीं बना पाती और मैच को गवा देती है.

राजस्थान रॉयल्स ने अपना पिछला मैच किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेला था जिसमें यह टीम जोस बटलर और राहुल त्रिपाठी की शानदार बल्लेबाजी के बावजूद भी जीत नहीं सकी थी. राहुल त्रिपाठी ने जरूर 50 रनों की पारी खेली थी लेकिन उसमें उन्होंने बहुत अधिक गेंदों को उपयोग किया जिसकी वजह से टीम को इस अर्धशतकीय पारी का कोई खास फायदा नहीं मिल पाया.

यदि टीम को मुंबई इंडियंस के खिलाफ आज का मैच जीतना है तो ऐसी छोटी-छोटी गलतियों को सुधारना होगा जिससे यदि मुंबई जैसी मजबूत टीम के सामने चुनौती पेश कर सके.

मुंबई इंडियंस निश्चित तौर पर इस मैच में विजेता की प्रमुख दावेदार है. लेकिन राजस्थान रॉयल्स अपने घरेलू मैदान पर जरूर कुछ ऐसा करना चाहेगी, जिससे मुंबई इंडियंस के जीत के रास्ते को रोका जा सके. यद्यपि मुंबई इंडियंस इस वक्त काफी मजबूत टीम नजर आ रही है. इस टीम ने भी जीत और हार के कई उतार-चढ़ाव भरे रास्ते देखे हैं, लेकिन आखिरकार मुंबई इंडियंस ने खुद को संभालते हुए अच्छा खेल दिखाया और आज अंक तालिका में दूसरे स्थान पर बरकरार है.

मुम्बई इंडियंस की संभावित प्लेइंग 11:-

रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक (विकेट कीपर और ओपनर), सूर्यकुमार यादव, युवराज सिंह, कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, जेसन बेहरेनडॉर्फ, जसप्रीत बुमराह, राहुल चाहर, लसित मलिंगा.

राजस्थान रॉयल्स की संभावित प्लेइंग इलेवन:-

अजिंक्या रहाणे (कप्तान), जोस बटलर, स्टीव स्मिथ, संजू सैमसन, राहुल त्रिपाठी, बेन स्टोक्स, के. गौतम, महिपाल लोमरोर/एस मिधुन, जोफ्रा आर्चर, श्रेयस गोपाल, धवल कुलकर्णी।

दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब होगी आमने सामने.

delhi capitals vs kings xi punjab

वहीं आज का दूसरा और आईपीएल का 37 वां मैच दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेला जाएगा.
यह मैच दिलचस्प रहने की पूरी उम्मीद है, क्योंकि क्योंकि जो भी टीम इस मैच को जीतेगी उसकी सुपर 4 में पहुंचने की संभावना और अधिक बढ़ जाएगी. इस वक्त दोनों ही टीमों के 10-10 अंक है. दोनों ही टीमें अपने 5-5 में एक जीत चुकी हैं.

यदि दिल्ली कैपिटल्स की बात की जाए तो यह टीम इस सीजन में बहुत अच्छा प्रदर्शन करती नजर आ रही है. खासकर जब अपने घरेलू मैदान से बाहर किसी अन्य मैदान पर खेलती है. लेकिन जब बात घरेलू मैदान पर खेलने की होती है तो यहां पर यह टीम कभी कमजोर प्रदर्शन करती हुई नजर आई है.

दिल्ली कैपिटल्स ने इस सीजन में अपने घरेलू मैदान पर अब तक कुल 4 मैच खेले हैं जिनमें से तीन मैच मैं इसे हार का सामना करना पड़ा है, वही सिर्फ एक ही मैच अपने घरेलू मैदान पर जीत पाई है.

इसका कारण यह है कि दिल्ली की बल्लेबाजी को तेज और उछाल भरी विकेट ज्यादा अच्छी लगती है. यदि दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान के बीच की बात करें तो यह बेहद धीमी और स्पिन गेंदबाजों को ज्यादा मदद पहुंचाने वाली है जिस कारण कहीं ना कहीं दिल्ली की टीम पिछड़ जाती है.

यदि आंकड़ों की बात करें तो दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब अब तक आईपीएल में कुल 23 बार एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं. जिनमें से 9 बार दिल्ली कैपिटल्स को जीत मिली है, वही 14 बार किंग्स इलेवन पंजाब ने जीत दर्ज की है.

फिरोज शाह कोटला मैदान पर दोनों टीमों के बीच हुए मुकाबलों की बात करें तो दोनों टीमें यहां पर कुल 10 बार एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं, और दोनों ही टीमों ने 5-5 मुकाबलों में एक दूसरे के खिलाफ जीत दर्ज की है. अब आंकड़ों के लिहाज से देखें तो दोनों ही टीमें यहां पर बराबर नजर आती हैं. इस लिहाज से किसी भी टीम को इस मैदान पर फेवरेट कहना थोड़ा मुश्किल होगा.

किंग्स इलेवन पंजाब की बात की जाए तो यह टीम जीत और हार गए काफी घुमाव भरे मोड़ से घूमते हुए यहां तक पहुंची है. इस टीम के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे टीम के मुख्य खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करने लगे हैं चाहे वह केएल राहुल हो या रविचंद्रन अश्विन.

ये दोनों ही टीम के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं. राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ हमने पिछले मैच में देखा था कि किस तरीके से रविचंद्रन अश्विन ने शानदार गेंदबाजी ही थी. उसके साथ ही उन्होंने अहम वक्त पर 4 गेंदों पर 17 रन की जोरदार पारी भी खेली थी. ऐसे ही छोटे-छोटे प्रदर्शन इस टीम की सबसे बड़ी मजबूती है.

पिछले मैच में लगभग हर गेंदबाज अच्छे फॉर्म में नजर आए, और लगभग सभी गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया. फिरोज शाह कोटला की धीमे विकेट को ध्यान में रखते हुए रविचंद्रन अश्विन और मुरगन अश्विन की भूमिका आज के मैच में और भी ज्यादा बढ़ जाएगी. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या अश्विन अपनी टीम में किसी तीसरे स्पिनर को भी शामिल करते हैं या नहीं.

क्या हो सकती है दिल्ली कैपिटल्स की प्लेइंग इलेवन.

श्रेयस अय्यर (कप्तान), शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, शेरफिन रदरफोर्ड, ऋषभ पंत, हनुमा विहारी, अमित मिश्रा, संदीप लामिछाने, ईशांत शर्मा, ट्रेंट बोल्ट और कगिसो रबाडा।

किंग्स इलेवन पंजाब की संभावित प्लेइंग 11:-

रविचंद्रन अश्विन (कप्तान), लोकेश राहुल (विकेट कीपर), मयंक अग्रवाल, करुण नायर, मनदीप सिंह, क्रिस गेल, सैम करेन, मुजीब उर रहमान, एंड्रू टाई, वरुण चक्रवर्ती और मोहम्मद शमी।